दुनिया का सबसे पुराना खेल कौन सा था, जाने Top 10 Ancient Games के बारे में

दुनिया का सबसे पुराना खेल कौन सा था: दुनियाभर के देशों में कई तरह के खेल खेले जाते है, खेल प्राचीन समय से ही इंसानों के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा हैं। आज के वक्त में दुनिया मे लाखों खेल खेले जाते है, लेकिन सवाल आता है कि दुनिया का सबसे पुराना खेल कौन सा था। आज हम आपको ऐसे कई खेलो के बारे में बताने वाले है, जो सदियों से खेले जा रहे है, गुफाओं पत्थरो पर बनी आर्ट्स से पता चलता है कि ये खेल हजारों वर्ष पुराने है।

जैसे-जैसे सभ्यताएँ विकसित हुईं, वैसे-वैसे खेलों की विविधता भी बढ़ने लगी, आइए जानते है दुनिया के 5 सबसे पुराने खेल के बारे में। ऐतिहासिक अभिलेखों और पुरातात्विक खोजों के अनुसार, कुश्ती दुनिया के सबसे पुराने खेलों में से एक है। इसकी उत्पत्ति 800 से 1200 ईसा पूर्व में हुई थी। कुश्ती के अलावा, दौड़ना एक और प्राचीन खेल है, इस आर्टिकल में हम आपको दुनिया का सबसे पुराना खेल कौन सा था और उसकी उत्पत्ति कहाँ हुई आदि के बारे में सम्पूर्ण जानकरी देने वाले है।

दुनिया का सबसे पुराना खेल कौन सा था ?

शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहने के लिए साथ ही मनोरंजन के लिए खेल बहुत जरूरी है। खेल को बढ़ावा देने के लिए दुनियाभर में कई संस्थाएं है जो हर वर्ष विभिन्न तरह के खेलों का आयोजन करती है, जैसे ओलंपिक्स, एशियन गेम्स, फीफा वर्ल्ड कप आदि।

1. कुश्ती

कुश्ती एक प्राचीन खेल है जो विभिन्न समाजों और संस्कृतियों में विकसित हुआ है और इसका इतिहास काफी पुराना है। यह एक मार्शल आर्ट के रूप में भी जानी जाती है जो लगभग 7000 ईसा पूर्व से खेला जा रहा है। कुश्ती का इतिहास भारत में विशेष महत्व रखता है, क्योंकि इसका इतिहास हमे रामायण से लेकर महाभारत तक मर देखने को मिलता है। सुग्रीव बाली का युद्ध इसका प्रमाण है। वेदों में भी कुश्ती का उल्लेख मिलता है, जिससे इसका प्राचीनतम रूप माना जा सकता है।

भारतीय कुश्ती की शुरुआत राजाओं और साम्राज्यों के समय से है, और इसे भारतीय सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा भी माना जाता है। कुश्ती को ओलंपिक में पहली बार 1952 में शामिल किया गया था, जिसके बाद भारतीय कुश्ती टीम ने ओलंपिक में कई मेडल्स जीते हैं।

कुश्ती के बारे में 10 तथ्य

  • कुश्ती एक प्राचीन खेल है, जिसका इतिहास भारत मे हजारों वर्ष पुराना है।
  • कुश्ती भारत का एक प्रमुख खेल है, भारत में कुश्ती के कई प्रमुख खिलाड़ियों का जन्म हुआ है।
  • कुश्ती टर्की समेत दुनिया के कई देशों का राष्ट्रीय खेल है।
  • ओलंपिक्स खेलो में भारतीय कुश्ती टीम ने लगभग 7 मैडल जीते है।
  • कुश्ती में कई शैलियां होती है, जैसे ग्रीको रोमन, फ्रीस्टाइल और ग्रीक रोमन वर्जन।
  • कुश्ती में खेल के लिए नियमो को इंटरनेशनल वर्ल्ड रेसलिंग फेडरेशन के द्वारा बनाये जाते है।
  • कुश्ती का इतिहास हमे फैरोमिक मिश्र के कब्रो की कलाकृतियों में देखने को मिलती है।
  • अरबी साहित्यों के अनुसार मुहम्मद एक पहलवान थे और कुश्ती लड़ते थे।
यह भी पढ़ें: Most centuries by active players in World cup: विश्वकप में सबसे शतक लगाने वाले एक्टिव प्लेयर्स

2. भाला फेंक

भाला फेंक या जैवलिन थ्रो, एक प्राचीन खेल है जो दुनियाभर के प्राचीन ओलंपिक खेलों का हिस्सा रहा है। भाला फेंक की शुरुआत 708 ईसा पूर्व में हुआ था। और बाद में इसे 1908 में आधुनिक ओलंपिक खेलो में शामिल कर लिया। पहला भाला जैतून की लकड़ी से बनाया गया था। जब पहली बार भाला फेंक को ओलिंपिक खेलो में शामिल किया गया तो एरिक लेमिंग ने मेडल जीता था। एरिक लेमिंग स्वीडन का एथलिट था, जिसने स्टैंडर्ड भाला फेंक के अलावा फ्रीस्टाइल में भी जीत दर्ज की थी।

1912 में एरिक लेमिंग ने स्वीडन में दूसरी बार ओलंपिक खेलों में हिस्सा लिया और भाला फेंक में दूसरा गोल्ड मैडल अपने नाम किया। उवे हान 100 मीटर की दूरी पर भाला फेकने वाले पहले एथलिट थे, हान ने 1984 के ओलंपिक खेलों में 104.8 मीटर लम्बा भाला फेंका था। भाला फेक खेलो में भारत ने अपनी पहचान तब बनाई , जब नीरज चोपड़ा ने भाला फेक में पहला गोल्ड मेडल जीता। भाला फेंक दुनिया के 5 सबसे पुराने खेल में से एक है।

भाला फेंक के बारे में 8 तथ्य

  • भाला फेंक को पहली बार 1908 मे ओलंपिक में शामिल किया गया था, जबकि महिला भाला फेंक खेल को 1932 में जोड़ा गया था।
  • भाला फेक का इतिहास लगभग 708 ईसा पूर्व पुराना है।
  • भाला फेक खेलो के लिए इस्तेमाल किया गया पहला भाला जैतून की लकड़ी से बना था।
  • रोमन सम्राट थियोडोसीयस प्रथम ने 394 ईसवी में खेलो को समाप्त कर दिया और इसी के साथ भाला फेंक भी समाप्त हो गया।
  • सकैंडिनेवियाई ने 1700 के दशक में इस खेल को पुनः शुरू किया।
  • भाला फेंक खेल के दो प्रमुख भाग है, जिसमे एक है लक्ष्य पर भाला फेकना और दूसरा सबसे दूर भाला फेकने का।
  • भाला फेंक खेलो में उवे हान 100 मीटर की दूरी पर भाला फेकने वाले पहले खिलाड़ी थे।
  • 2024 ओलिंपिक चैंपियन नीरज चोपड़ा को हॉन ने ही कोचिंग दी थी।

3. तीरंदाजी

तीरंदाजी, एक प्राचीन कला और खेल, सदियों पहले इस खेल को राजा महाराजाओं द्वारा खेला जाता था, लेकिन आज के वक्त यह एक पॉपुलर खेल बन चुका है। तीरंदाजी का इतिहास विभिन्न सांस्कृतिकों, युगों, और क्षेत्रों में विकसित हुआ है। तीरंदाजी दुनिया के 5 सबसे पुराने खेल में से एक है।

तीरंदाजी की शुरुआत प्राचीन काल में हुई थी, उस वक्त यह एक खेल न होकर युद्धकला थी। वेदिक साहित्य में भी तीरंदाजी का उल्लेख मिलता है। इसके अतिरिक्त तीरंदाजी मिश्र के 18वे राजवंश के फिरौन का पसंदीदा खेल था। सदियों पहले इस खेल का आयोजन चीन में होने के प्रमाण मिलते है, जो कि तकरीबन 1046 से 256 ईसा पूर्व का समय था। पहली बार 1900 मे तीरंदाजी को ओलंपिक खेलो में शामिल किया गया था।

तीरंदाजी के बारे में 8 तथ्य

  • तीरंदाजी में यदि आप सबसे छोटे रिंग में निशाना साधते है तो आपको 10 अंक मिलते है।
  • तीरंदाजी को प्राचीन समय मे खेल के रूप में न जानकर युद्धकला के रूप में जाना जाता था।
  • तीरंदाजी का जिक्र हमे वेदों में भी देखने को मिलता है और तीरंदाजी दुनिया के 5 सबसे पुराने खेल में से एक है।
  • तीरंदाजी को पहली बार 1900 मे ओलंपिक म3 शामिल किया गया था।
  • तीरंदाजी 1920 तक ओलंपिक खेलों का हिसा था, इसके पश्चात 1972 में इसे वापस ओलंपिक में शामिल किया गया।
  • ओलंपिक के इतिहास में 6 स्वर्ण और 3 रजत पदकों के साथ ह्यूबर्ट वैन इनीस सबसे सफल तीरंदाज है।
  • ह्यूबर्ट वैन इनीस बेल्जियम देश के रहने वाले थे।
  • भारत ने अबतक ओलंपिक खेलों में तीरंदाजी में कुल पांच स्वर्ण पदक जीते है।

4. हॉकी

हॉकी एक पुराना खेल है जो पहले दक्षिण पश्चिम यूरोप में खेला जाता था और फिर यह बाद में अंग्रेजी खिलाड़ियों द्वारा और विकसित हुआ। हॉकी की शुरुआत 1527 ईसवी में स्कॉटलैंड में हुई थी, तब इसे होकी के नाम से जाना जाता था। इसका आरंभ आधुनिक हॉकी के रूप में 18वीं सदी में हुआ था। हॉकी की शुरुआत इंग्लैंड में हुआ था, जहां यह पहले ये “हॉकी क्लब” के रूप में खेला जाता था। 1928 में अम्स्टरडम ओलंपिक में, हॉकी को पहली बार एक ओलंपिक खेल के रूप में शामिल किया गया था और यह स्विट्जरलैंड को हराकर भारत ने पहला सोने का पदक जीता।

वर्ष 1925 में भारतीय हॉकी संघ की स्थापना हुई थी, इसके एक साल बाद ही अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ की शुरिआत की गई। एक समय पर ओलम्पिक हॉकी में भारतीय टीम का दबदबा था, वो दौरा मेजर ध्यानचंद का समय था, जब उन्होंने 5 मैचों में 14 गोल किये थे और भारत को स्वर्ण पदक जिताया। मेजर ध्यानचन्द के नेतृत्व में भारतीय हॉकी टीम ने लगातार 3 स्वर्ण पदक जीते, इसलिए उन्हें हॉकी का जादूगर कहा जाता है।

हॉकी के बारे में 8 तथ्य

  • आधुनिक हॉकी का उदय 18वी सदी के आसपास हुआ था।
  • साल 1925 में भारतीय हॉकी संघ की स्थापना हुई और इसके बाद ही अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ की भी शुरुआत हुई।
  • वर्ष 1908 में हॉकी को ओलंपिक में शामिल किया गया था।
  • भारत ने वर्ष 2028,2032 और 2036 में लगातार गोल्ड मैडल जीतकर हैट्रिक लगाई थी।
  • ये तीनो मैच भारत ने मेजर ध्यानचंद के नेतृत्व में जीता था।
  • मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है।
  • मेजर ध्यानचन्द के नाम पर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार दिया जाता है।
  • भारत ने ध्यानचन्द के बाद 1948, 1952 और 1956 में वपास जीत की हैट्रिक लगाई।

5. दौड़

दौड़, एक प्राचीन खेल है और लंबे समय से इंसानों के जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। दौड़ की शुरुआत लगभग 776 ईसा पूर्व यूनान में हुई थी। इसे यूनानी राजाओं के बीच आयोजित ओलंपिक खेलों में शामिल किया गया था, यहीं पर दौड़ की पहली रेस 192 मीटर की आयोजित की गई थी। ओलंपिक में दौड़ नेआज एक महत्वपूर्ण खेल बन चुका है।

इसके बाद से ही दौड़ का पूरी दुनिया में प्रसार हुआ और आज विभिन्न प्रकार की दौड़ गतिविधियाँ आयोजित होती हैं, जैसे मराथन, स्प्रिंट, और दौड़ की रोड रेसिंग। दौड़ के कुछ महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में उसैन बोल्ट, कैरल लेविस, और फ्लोरेंस जॉयनर शामिल है। खेल के अलावा दौड़ इंसानों के स्वास्थ्य से भी जुड़ी हुई है।

Conclusion

खेल लंबे समय से मतवः जीवन का अहम हिस्सा रहा है। लोग स्वस्थ रहने के लिए और मनोरंजन के लिए विभिन खेलो में हिस्सा लेते है। यदि बात करी जाए खेल के इतिहास के बारे में तो इनका इतिहास हजारों वर्ष पुराना है। इसी कड़ी में आज हमने इस आर्टिकल में आपको दुनिया के 5 सबसे पुराने खेलो के बारे में अहम जानकरी दी है। यदि आपको यह आर्टिकल पसन्द आया हो तो अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें।

FAQs

दुनिया के 5 सबसे पुराने खेल कौन से है?

दुनिया के 5 सबसे पुराने खेलो में हॉकी, दौड़, भाला फेक, कुश्ती और तीरंदाजी शामिल है।

दुनिया का सबसे प्राचीन खेल कौन सा है?

दुनिया का सबसे पुराना खेल कुश्ती को माना जाता है।

मेजर ध्यानचंद कौन है ?

मेजर ध्यानचंद हॉकी के महान खिलाड़ी थे, उन्होंने ओलिंपिक में 3 गोल्ड मेडल जीते थे।

Leave a Comment