18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, योग्यता, फीस, एडमिशन प्रोसेस

क्रिकेटर कैसे बने, 18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बने,20 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, गर्ल क्रिकेटर कैसे बने, 18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, क्रिकेटर कैसे बने पूरी जानकारी, 25 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, गर्ल क्रिकेटर कैसे बने, बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बनें, महिला क्रिकेटर कैसे बने,क्रिकेटर बनने की योग्यता

क्रिकेट क्या है, यदि किसी को जानना है तो उसे भारत का भ्रमण करना चाहिए। क्रिकेट भारतीय लोगो के रग रग में दौड़ता है, क्रिकेट ही वह खेल है जिसे भारत मे अन्य खेलों के मुकाबले सबसे अधिक पसन्द किया जाता है। ऐसे में बहुत से युवा है जो क्रिकेट के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है और जानना चाहते है कि क्रिकेटर कैसे बने ? क्रिकेटर बनना कई उत्साही लोगों का सपना होता है और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए जुनून, समर्पण और मेहनत की जरूरत होती है।

भारत समेत विश्वभर में क्रिकेट के करोड़ो में प्रशंशक है, आईपीएल जैसी सीरीज के लिए टीमें खिलाड़ियों को करोड़ो में खरीदती है। इसलिए आज के वक्त में क्रिकेट मात्र एक खेल नही है बल्कि यह धन और प्रसिद्धि पाने का एक अच्छा साधन बन गया है। युवा हो, बड़े हो या बूढे हो क्रिकेट को भारत के कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पसन्द किया जाता है।

क्रिकेटर बनने के इच्छुक लोगो को पता होना चाहिए बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बनें? या फिर आप कोई जॉब कर रहे है तो जॉब करते हुए क्रिकेटर कैसे बने, जैसे आर्मी से क्रिकेटर कैसे बने आदि। जैसा कि विशेषज्ञों द्वारा बताया गया है, कोई भी खेल सीखने के लिए पूर्ण समर्पण, कठिन परिश्रम, कंसिस्टेंसी और एक अच्छे मार्गदर्शक की जरूरत होती है। इस लेख में हम आपको 18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने, बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बने, 20 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने गर्ल क्रिकेटर कैसे बने 18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने? के बारे में विस्तृत जानकरी देंगे।

क्रिकेटर कौन है ?

क्रिकेटर वह व्यक्ति होता है जो क्रिकेट खेलता है, क्रिकेट एक मैदान पर ग्यारह खिलाड़ियों की दो टीमों के बीच खेला जाने वाला बैट्स और गेंद का खेल है। क्रिकेटर शौकिया या पेशेवर खिलाड़ी हो सकते हैं जो खेल के विभिन्न फॉर्मेट, जैसे टेस्ट मैच, एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय (वनडे) और ट्वेंटी-20 (टी20) मैचों में हिस्सा लेते हैं। क्रिकेटर बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग में माहिर होते है।

क्रिकेट के क्षेत्र में, दो दिग्गजों ने खेल पर एक अमिट छाप छोड़ी है- सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली। “लिटिल मास्टर” और “क्रिकेट के भगवान” के नाम से मशहूर सचिन तेंदुलकर का शानदार करियर दो दशकों तक चला। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी सहित उनके रिकॉर्ड और उपलब्धियों ने उन्हें विश्व स्तर पर क्रिकेट का दिग्गज बना दिया है।

दूसरी ओर, विराट कोहली, जिन्हें अक्सर “रन मशीन” कहा जाता है, ने अपनी अलग पहचान बनाई है। भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान के रूप में, कोहली की आक्रामक बल्लेबाजी शैली और नेतृत्व कौशल ने उनके करोड़ो प्रसंशक बनाये है।

क्रिकेटर बनने की योग्यता

क अच्छा क्रिकेटर बनने का ख्वाब हजारों लाखो लोग देखते है, लेकिन सब एक अच्छे क्रिकेटर नही बन सकते। एक अच्छा व प्रोफेशनल क्रिकेटर बनना कोई आसान काम नही है, इसके लिए इक्छुक व्यक्ति को कड़ी मेहनत करनी होगी। इसके साथ ही उनके अंदर आवश्यक खूबियां होनी चाहिए।

  • अभ्यास- यदि आप क्रिकेट के खेल में महारत हासिल करना चाहते है और एक प्रोफेशनल व प्रसिद्ध क्रिकेटर बनना चाहते है तो आपको नियमित अभ्यास करना चाहिए।
  • खेल की बुनियादी जानकरी- क्रिकेट मात्र सिर्फ बल्ले या गेंद का खेल नही है, जिसमे एक खिलाड़ी बॉल फेंकता है और दूसरा बल्ले से उसे मारता है। क्रिकेट मात्र विकेट, छक्के,चौके का खेल नही है, इसमें कई ऐसे नियम है जिसे प्रोफेशनल क्रिकेटर बनने के लिए आपको पता होना चाहिए।
  • खुद को पहचाने- क्रिकेट में बॉलिंग और बैटिंग दो प्रमुख भाग होते है, खुद को पहचाने की आप बॉलिंग में बेहतर है या बैटिंग में, अपनी फील्डिंग को मजबूत करें और ये सुनिश्चित करें कि आप जिस भी हिस्से में कमजोर है उसे मजबूत करें।

यह लेख भी आपको पसंद आएंगे-

क्रिकेट बनने के लिए क्या करें

क्रिकेटर बनने के लिए आवश्यक है आप एक प्लान बनाये और उस प्लान को पूरी शिद्दत से पूरा करे। यहां हमने कुछ पॉइंट्स बताये है, जिनका यदि आप पालन करते है तो आपकी क्रिकेटर बनने की राह आसान हो सकती है।

  • जल्दी शुरुआत करें:- क्रिकेट सम्बन्धित स्किल डेवलप करने और खेल की अच्छी समझ के लिए एक ठोस आधार बनाने के लिए कम उम्र में अपनी क्रिकेट सीखने की शुरुआत करना एक अच्छा आईडिया हो सकता है।
  • क्रिकेट अकादमी में नामांकन करें: तकनीकों पर प्रोफेशनल कोचिंग और मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए किसी प्रतिष्ठित क्रिकेट अकादमी में एडमिशन ले या नामांकन करे।
  • दैनिक अभ्यास करे: एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए आवश्यक है कि आप कंसिस्टेंटली दैनिक अभ्यास करे। बल्लेबाजी, गेंदबाजी, कैचिंग और थ्रोइंग जैसे आवश्यक क्रिकेट स्किल का अभ्यास करने के लिए आपको प्रतिदिन अभ्यास करना चाहिए।
  • ट्रायल में हिस्सा लें: अपने क्रिकेट टैलेंट को दिखाने और स्काउट्स की नज़र में आने के लिए क्लबों, स्कूलों या स्थानीय टीमों द्वारा आयोजित क्रिकेट ट्रायल में आपको हिस्सा लेना चाहिए।
  • ट्रेनिंग रूटीन बनाये: एक ट्रेनिंग रूटीन का पालन करें, जिसमें स्क्वाट, डेडलिफ्ट और मेडिसिन बॉल थ्रो जैसे क्रिकेट के लिए आवश्यक अभ्यास शामिल हैं।

क्रिकेटर कैसे बने

एक अच्छा क्रिकेटर बनने के लिए पूर्ण समर्पण व जुनून की जरूरत होती है। क्रिकेटर बनने के लिए जरूरी है, आप अपनी प्रैक्टिस को जल्दी शुरू करें इसके लिए आपको क्रिकेट अकादमी में नामांकन करना, संरचित प्रशिक्षण और मार्गदर्शन प्रदान करना महत्वपूर्ण है। बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण (फील्डिंग) को निखारने के लिए आपको दैनिक अभ्यास करना आवश्यक है। साथ ही आपको अपनी काबिलियत दर्शाने के लिए क्लबों या टीमों द्वारा आयोजित परीक्षणों में भाग लेना चाहिए।

क्रिकेटर बनने के लिए स्टेप बाई स्टेप गाइड

क्रिकेटर बनने के लिए यहां पर स्टेप बाई स्टेप आपका मार्गदर्शन किया गया है-

1. जल्दी शुरुआत करें

क्रिकेटर बनने के लिए जल्दी शुरुआत करना महत्वपूर्ण है। बुनियादी कौशल और खेल के प्रति जुनून विकसित करने के लिए कम उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू करें। यह शुरुआत एक सफल क्रिकेटर बनने की नींव रखती है और आपको उन लोगो से आगे ले जाती है जो देरी से शुरुआत करते है। कम उम्र में शुरुआत करने से महत्वाकांक्षी क्रिकेटरों को खेल की जटिलताओं को समझने, आवश्यक तकनीक सीखने और खेल की गहरी समझ विकसित करने की अनुमति मिलती है।

2. क्रिकेटेट अकादमी से जुड़े

महत्वाकांक्षी क्रिकेटरों के लिए क्रिकेट अकादमी में शामिल होना चाहिए। ये अकादमियां पेशेवर कोच के तहत विशेष प्रशिक्षण प्रदान करती हैं, जिससे लोगो को तकनीकी कौशल, रणनीतिक समझ और क्रिकेट विशेषज्ञता विकसित करने में मदद मिलती है। क्रिकेट अकादमी का वातावरण व्यवस्थित ट्रेनिंग सुनिश्चित करता है, जिसमें बल्लेबाजी तकनीक, गेंदबाजी शैली और क्षेत्ररक्षण रणनीतिया शामिल होती है। इसके अतिरिक्त, एक अकादमी का हिस्सा होने से प्रतिस्पर्धी परिदृश्यों का अनुभव मिलता है, जिससे खिलाड़ियों को अपने प्रदर्शन का आकलन करने और उसमे सुधार करने की प्रेरणा मिलती है।

3. दैनिक अभ्यास

क्रिकेटर बनने की सोच रखने वाले व्यक्तियों को लगातार और केंद्रित दैनिक अभ्यास करना चाहिए है, केंद्रित अभ्यास से तात्पर्य है, जिससे आपको क्रिकेट में मदद मिले। अपनी बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण कौशल को बेहतर बनाने के लिए रोजाना अभ्यास जरूर करें।

4. तकनीकी पहलुओं पर काम करें

एक बल्लेबाज और गेंदबाज के तौर पर आपको तकनीकी पहलुओं पर काम करने की विशेष जरूरत है। बल्लेबाजों के लिए उचित रुख और शॉट चयन का अभ्यास करना जरूरी है जबकि गेंदबाजों के लिए विभिन्न गेंदबाजी तकनीकों में महारत हासिल करना चाहिए। बल्लेबाजों के लिए उचित रुख और शॉट चयन से तात्पर्य है कि बल्लेबाज को पता होना चाहिए कि शार्ट बॉल कैसे खेलनी है, स्पिन कैसे खेलनी है etc.

5. टूर्नामेंट में भाग ले

एक उभरते क्रिकेटर के लिए स्थानीय क्लब या टीम टूर्नामेंट में भाग लेना बेहद जरूरी है। क्योंकि आपके एक प्रसिद्ध क्रिकेटर बनने की जर्नी यहीं से शुरू होती है। ये टूर्नामेंट प्रतिस्पर्धी माहौल में अपने कौशल को प्रदर्शित करने के लिए एक मंच प्रदान करते हैं, जिससे आपको अनुभव प्राप्त होता है। स्काउट्स और चयनकर्ता अक्सर इन आयोजनों में भाग लेते हैं, जो उच्च स्तर के खेल के लिए मान्यता और संभावित चयन का अवसर प्रदान करते हैं। टूर्नामेंटों में लगातार भाग लेने से, आप न केवल दबाव में अपने खेल को निखारते हैं, बल्कि क्रिकेट सलेक्टर्स की नज़र में आने की संभावना भी बढ़ाते हैं।

6. ट्रायल में हिस्सा ले

क्रिकेट ट्रायल कार्यक्रम में महत्वाकांक्षी क्रिकेटर स्काउट्स और चयनकर्ताओं के सामने अपने कौशल का प्रदर्शन करते हैं। ये परीक्षण प्रतिभा की पहचान के लिए एक मंच के रूप में काम करते हैं, जिससे क्रिकेटर पेशेवर टीमों या अकादमियों को अपने खेल से प्रभावित करने की कोशिश करते है।

7. शारीरिक फिटनेस

क्रिकेट में शारीरिक फिटनेस बहुत जरूरी है। हृदय संबंधी वर्कआउट और शक्ति प्रशिक्षण सहित नियमित व्यायाम, सहनशक्ति बढ़ाने और चोटों को रोकने के लिए जरूरी है फील्ड पर प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए चपलता, लचीलेपन पर ध्यान दे। एक अच्छी तरह से बनाए रखा गया फिटनेस स्तर न केवल आपके समग्र खेल को बेहतर बनाता है बल्कि मैचों के दौरान निरंतर अच्छा प्रदर्शन में भी योगदान देता है।

8. क्रिकेट क्लब में शामिल हो

क्लब नियमित मैचों के लिए एक संरचित मंच प्रदान करते हैं, जिससे खिलाड़ियों को प्रतिस्पर्धी माहौल में अपने कौशल को लागू करने और निखारने की अनुमति मिलती है। क्लब मैचों में भाग लेने से, व्यक्तियों को विविध खेल शैलियों और परिदृश्यों का अनुभव मिलता है, जो उनके समग्र क्रिकेट कौशल का विकास करता है। इसके अतिरिक्त, क्लबों में अक्सर ट्रेनर्स, सलाहकारों और साथी खिलाड़ियों का एक नेटवर्क होता है, जहां से आपको आगे बढ़ने के लिए अच्छा मार्गदर्शन मिलता है।

18 साल के बाद क्रिकेटर कैसे बने

18 साल की उम्र के बाद क्रिकेटर बनना समर्पण और लगन के सातग संभव है। सबसे पहले, अपने कौशल को निखारने और शुरुआती निराशा पर काबू पाने के लिए किसी कोच से मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिए अकादमी जॉइन करे। क्रिकेटर बनने की राह में कई बार आपको निराशा होगी और आपको लगेगा की यह मैं नही कर सकता, उस वक्त आपको तैयार करने के लिए एक कोच की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। 18 साल की उम्र में क्रिकेटर बनने के लिए आपको नियमित अभ्यास करना चाहिए।

प्रोफेशनल मैचों में भाग लेने, और अनुभव प्राप्त करने के लिए एक स्थानीय क्रिकेट क्लब में शामिल हों। ऐसे बहुत से प्रसिद्ध व सफल क्रिकेटर है जो बहुत ही कम उम्र में सफल क्रिकेटर बन गए थे। उदाहरण के लिए, सचिन तेंदुलकर ने 16 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। अपनी क्षमताओं पर विश्वास करें, कड़ी मेहनत करें और अपने क्रिकेट लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कंसिस्टेंस रहें।

बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बने ?

बिना अकेडमी के क्रिकेटर बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत से गुजरना होगा, बिना एकेडमी के क्रिकेटर कैसे बन सकते है कि, इस विषय मे यह कुछ पॉइंट्स शेयर किए गए है।

  • बिना अकेडमी के क्रिकेटर बनने के लिए आपको अधिक अभ्यास की जरूरत पड़ेगी।
  • अपने क्रिकेट कौशल की पहचान करें जैसे आप बोलिंग में बेहतर है या बैटिंग में।
  • अपने कौशल को पहचानने के बाद उसी हिसाब से अपनी रणनीति बनाये।
  • अब आपको ऑनलाइन ट्यूटोरियल वीडियो देखकर क्रिकेट सीखना होगा, इसके अलावा आप पॉपुलर क्रिकेटर्स के पॉडकास्ट व इंटरव्यू सुने, इससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।
  • भारत मे क्रिकेट इतना पसन्द किया जाता है कि आपको हर गांव, नगर में एक ऐसा व्यक्ति मिल जाएगा जो क्रिकेट में बहुत अच्छा होगा, उनसे बात करें और कोचिंग ले।
  • क्रिकेटर बनने के लिए सबसे जरूरी है नियमित अभ्यास, आपको डेली घण्टो अभ्यास करना चाहिए।
  • प्रतिस्पर्धी भावना विकसित करने के लिए और मैदानी अनुभव के किये क्षेत्रीय टूर्नामेंट व ग्रामीण स्तर के खेलों में हिस्सा ले।
  • इसके पश्चात आपको डिस्ट्रिक्ट, डेमोस्टिक और स्टेट लेवल के ट्रायल्स से अपडेट रहना चाहिये।

क्रिकेटर बनने में कितना पैसा लगता है ?

क्रिकेटर बनने में कितना पैसा लगता है यह कई कारको पर डिपेंड करता है, जैसे आप बिना अकेडमी के क्रिकेटर बनना चाहते है या अकादमी से जुड़कर। एक क्रिकेट अकादमी की मासिक फीस 1000 से 5000 हजार तक हो सकती है, इसके साथ ही आपको क्रिकेट किट वगैरह भी खरीदना पड़ सकता है।

  • क्रिकेट क्लब फीस – क्रिकेटर बनने के लिए हर महीने 2000 से 10 हजार तक का खर्चा लग सकता है। ध्यान रहे ये पैसे आपके अकादमी में लगेंगे, इसके अलावा भी आपको अन्य कई जगह पैसे खर्च करने पड़ सकते है। एक क्रिकेट अकादमी की फीस आमतौर पर 2000 से 10,000 तक प्रति माह हो सकती है, हालांकि क्रिकेट अकादमी फी कई कारको पर निर्भर करती है, जैसे आप किस शहर में रहते है और आपने कौन सी अकेडमी जॉइन की है। क्रिकेट अकादमी फी के अलावा आपको प्रैक्टिस किट में पैसे खर्च करने पड़ सकते है, यदिआप क्रिकेट सीखने किसी दूसरे शहर गए है तो आपको फ्लैट का रेंट भी देना पड़ेगा।
  • डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट का खर्च – जब आपको कोई मैच डिस्ट्रिक्ट लेवल पर खेलते है, तो वहां भी आपको पैसे खर्चने होंगे, हालांकि मैच के दौरान आपके रहने खाने का इंतज़ाम डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा किया जाता है। डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट खेलने पर आपको किसी तरह की सैलरी नही दी जाती।
  • स्टेट क्रिकेट खेलने का खर्च- अब सवाल आता है स्टेट क्रिकेट खेलने का खर्च कितना आता है, इस स्तर पर आने तक आपको अच्छा क्रिकेट खेलने के लिए सैलरी भी प्रदान की जाती है। लेकिन यहां भी आपको अपना खर्च खुद उठाना पड़ेगा।

क्रिकेट अकादमी में एडमिशन कैसे लें?

  • क्रिकेट अकादमी में एडमिशन लेने के लिए आपको सबसे पहले किसी भी अकादमी के चयन करना होगा।
  • अकादमी चुनने के बाद उसकी आधिकरिक वेबसाइट पर जाएं एयर अकादमी के बारे में विस्तृत सभी जानकरी प्राप्त करें।
  • अकादमी की प्रवेश प्रक्रिया को समझे, अकादमी में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस टेस्ट देना पड़ सकता है।
  • अकादमी की फीस, शर्तो व अन्य के बारे में सभी जानकरियां एकजुट करें।
  • इसके बाद आपको आधिकरिक वेबसाइट के मध्यम से आवेदन करना होगा।

गर्ल क्रिकेटर कैसे बने

क्रिकेटर बनने के की प्रक्रिया महिला व पुरुष दोनों के लिए समान है। गर्ल क्रिकेटर बनने के लिए भी उपरोक्त बातों का पालन करना होगा। लड़कियों को भी क्रिकेटर बनने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी, साथ ही बेहतर प्रदर्शन के लिए क्रिकेट अकादमी से जुड़ना होगा और क्लब क्रिकेट व जिला स्तर,राज्य स्तरीय क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सा लेना होगा।

Top 10 Cricket Academy in India

  • Karnataka Institute of Cricket, Bangalore
  • Jaipur Cricket Academy
  • National Cricket Academy (NCA)
  • Madan Lal Cricket Academy
  • LB Shastri Cricket Academy
  • Sehwag Cricket Academy
  • National School of Cricket
  • Neerja Modi Cricket Academy
  • MRF Pace Foundation
  • Vengsarkar Cricket Academy

Leave a Comment

Exit mobile version