डेटाबेस क्या है ? जाने Database के उपयोग, प्रकार, फायदे व नुकसान, इतिहास व उदाहरण |Database in Hindi|

Database क्या है ? डेटाबेस क्या है ?, डेटाबेस कितने प्रकार का होता है, डेटाबेस का उपयोग क्या है, डेटाबेस का इस्तेमाल कैसे करे, डेटाबेस का इतिहास क्या है, डेटाबेस के फायदे व नुकसान क्या है, डेटाबेस की विशेषताएं आदि डेटाबेस से सम्बंधित इन सभी प्रश्नों के उत्तर इस आर्टिकल में हम विस्तार से बताने वाले है।

Information Technology कहिए या सूचना प्रौद्योगिकी, के जमाने में, डेटाबेस आधुनिक डेटा प्रबंधन (Modern Data Management) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, यह आधुनिक डेटा के प्रबंधन में रीढ़ की हड्डी की तरह है।

डेटाबेस एक डिजिटल फाइलिंग सिस्टम है, जहां पर कंपनियां अपने उपभोक्ताओं के डेटा को सुव्यवस्थित ढंग से स्टोर करती है। गौरतलब है डेटाबेस के आने से पहले, डेटा को मैन्युअली कागज़ों में लिखकर बड़े बड़े संग्रहलयो में स्टोर किया जाता था। जो थकाऊ व रिस्की समय लेने वाला प्रोसेस था, और इसमे डेटा को सुरक्षित रख पाना काफी कठिन था।

यदि आप अब तक नही समझे कि डेटा क्या है, तो बता दे, नाम, नम्बर, एड्रेस, फ़ोटो, मैसेज ये सब कुछ डेटा है, जिसे स्टोर करने के लिए डेटाबेस की जरूरत पड़ती है। मान लीजिए आपने अपनी गर्लफ्रेंड को मैसेज भेजा, “मेले बाबू ने थाना थाया, मेला बाबू तहां है” तो ये मैसेज डेटाबेस में स्टोर रहता है। आइए जानते है डेटाबेस क्या है ?

डेटाबेस क्या है ? (What is Database)

डेटाबेस डेटा का एक संरचित और संगठित संग्रह है, जो मॉडर्न कंप्यूटिंग का एक मूलभूत पार्ट है। सूचना प्रबंधन के क्षेत्र में, डेटाबेस बड़ी मात्रा में डेटा को कुशलतापूर्वक संग्रहीत करने, उसे पुनर्प्राप्त करने और प्रबंधित करने का काम करता है। डेटाबेस को आप आसानी से अपने कंप्यूटर सिस्टम के जरिये एक्सेस कर सकते है, इसे आमतौर पर डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के द्वारा कंट्रोल किया जाता है।

यदि साधारण शब्दो मे कहे कि डेटाबेस क्या है, डेटाबेस एक तरह का सॉफ्टवेयर है जो आपके कंप्यूटर सिस्टम में होता है। इसे आप अपने मोबाइल व कंप्यूटर के जरिये ईजिली एक्सेस कर सकते है। डेटाबेस का मुख्य काम आपके डेटा को स्टोर करना, रिकवर करना और मैनेज करना होता है। डेटाबेस के इन्वेंट होने से पहले डेटा को फिजिकली कागज़ों में स्टोर किया जाता था।

डाटाबेस में सेव होने वाले डेटा में आपकी तस्वीरे, टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो हो सकती है। ये डेटा आपके कंप्यूटर या मोबाइल के डाटाबेस में सीरियलवाइज स्टोर रहता है। आप आने मोबाइल में व्हाट्सएप्प डेटाबेस को कुछ इस क्रम में पा सकते है-

sdcard/WhatsApp/Databases/

उवभोक्ताओ के डेटा को व्यवस्थित तरीके से संग्रहीत करना, उनकी सुरक्षा करना, मैनेज करना डेटाबेस की विशेषता होती है। अक्सर रिलेशनल डेटाबेस के मामले तालिकाओं (Tables) और कनेक्शन्स का उपयोग किया जाता है। यदि आप नही जानते कि रिलेशनल डेटाबेस क्या है तो हमारे इस आर्टिकल को पढ़ें।

डेटाबेस का इतिहास

डेटाबेस का इतिहास आज के डिजिटल युग से भी पहले का है। यह भी कह सकते है कि डेटाबेस का इतिहास कंप्यूटर सभी पहले का फर्क बस इतना है कि तब Physical Database होते थे और अब डिजिटल। कंप्यूटर से पहले, डेटा को पत्रिकाओं, पुस्तकालयों और फाइलिंग कैबिनेट में मैन्युअल रूप से संग्रहीत किया जाता था। 20वीं सदी के मध्य में मैग्नेटिक डिस्क जैसे डायरेक्ट एक्सेस स्टोरेज मीडिया ने डेटाबेस के कांसेप्ट को सुविधाजनक बनाया।

1960 में, चार्ल्स डब्ल्यू. बैचमैन ने एकीकृत डेटाबेस सिस्टम बनाते हुए पहला Database Management System (DBMS) डिज़ाइन किया। इसके बाद, पदानुक्रमित (हिरार्चिकल) डेटाबेस मॉडल डिज़ाइन किया गया। 1970 में एडगर कॉड ने रिलेशनल डेटाबेस मॉडल का विकास किया, जिसने डेटाबेस के क्षेत्र में क्रांति ला दी। ओरेकल ने 1979 में पहला कमर्शियल रिलेशनल डेटाबेस लांच किया। 1980 और 90 के दशक में DB2, SAP Sysbase ASE और Informix जैसे कमर्शियल रिलेशन डेटाबेस का उदय हुआ।

डेटाबेस का महत्व (Importance of Database)

डिजिटल युग में डेटाबेस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, ये सूचना प्रबंधन की रीढ़ के रूप में काम करते हैं। आज के वक्त यदि डेटाबेस न हो तो एक व्हाट्सएप्प मैसेज करने से लेकर शेयर बाजार में शेयरो का लेनदेन सब ठप्प हो जाये। डेटाबेस का उपयोग हर जगह होता है, शेयर बाजार से लेकर बैंकिंग तक, आधार कार्ड बनवाने से लेकर फ्लाइट बुकिंग तक। इसी से आप डेटाबेस का महत्व (Importance of Database) समझ गए होंगे। डेटाबेस का महत्व कुशल डेटा भंडारण, पुनर्प्राप्ति और और मैनेज करने के लिए किया जाता है।

  • डेटा संगठन:- डेटाबेस आसान पहुंच और प्रबंधन सुनिश्चित करते हुए, टेक्स्ट से लेकर मल्टीमीडिया तक विविध डेटा प्रकारों को संग्रहीत करने के लिए आपको एक संरचित ढांचा प्रदान करता है।
  • आसान पहुंच:- डेटाबेस के भीतर जानकारी को आसानी से स्टोर, रिकवर व मैनेज किया जा सकता है।
  • डेटा सुरक्षा:- डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम डेटा सुरक्षा और स्थिरता सुनिश्चित करता हैं, यह त्रुटियों और हैकर्स व सकैम्र्स के अनधिकृत पहुंच के जोखिम को कम करता हैं।

डेटाबेस के फायदे व नुकसान क्या है ?

डेटाबेस का उपयोग डेटा को स्टोर, मैनेज और रिकवर करने के लिए किया जाता है। डेटाबेस जितना लाभकारी है, इसके नुकसान भी उतने नुकसानदायक है। आये दिन आप सुनते होंगे कि फला कंपनी का डेटा Dark Web पर लीक हो गया। यह कहीं न कहीं डेटाबेस की असफलता को दर्शाती है। डेटाबेस के फायदे व नुकसान निम्नलिखित है-

डेटाबेस के फायदे

  • डेटाबेस डेटा को सुरक्षित तरीके से स्टोर करता है।
  • डेटाबेस डेटा के प्रबंधन में काफी कम समय लेता है।
  • डेटाबेस डेटा को आसानी से स्टोर, मैनेज व पुनर्प्राप्ति के लिए अनुमति देता है।
  • डेटाबेस सूचना की क्वालिटी व कंसिस्टेंसी में सुधार करता है।
  • डेटाबेस आसानी से डेटा तक पहुँचने में मदद करता है।

डेटाबेस के नुकसान

  • डेटाबेस को बनाने में काफी समय लगता है व इसकी प्रक्रिया जटिल है।
  • डेटाबेस विफलता, इसके सबसे बड़े नुकसानों में से एक है।
  • डेटा ब्रीच होने का खतरा एक प्रमुख नुकसान है।

डेटाबेस का उपयोग (Uses of Database)

डेटाबेस का उपयोग विभिन्न उद्योगों में किया जाता है। व्यावसायिक संचालन में, डेटाबेस उवभोक्ताओ के डेटा, बिक्री लेनदेन और इन्वेंट्री जैसी महत्वपूर्ण जानकारी के प्रबंधन में सहायक होते हैं। डेटाबेस का उपयोग शेयर बाजार, हॉस्पिटल, रेलवे, बैंकिंग, सोशल मीडिया एप्प, ई कॉमर्स वेबसाइट लगभग सभी के द्वारा किया जाता है। समझ लीजिए आप जितने भी ऐप्स का इस्तेमाल करते है वे सभी डेटाबेस का उपयोग करते है।

उदाहरण के लिए-

  • आप यूट्यूब पर जो भी वीडियो या लाइव स्ट्रीमिंग देखते है, वो कहें न कहीं किसी डेटाबेस में स्टोर होता है। मान लीजिए यूट्यूब का एक वीडियो जिसका शीर्षक है “आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस क्या है” ये वीडियो आपको पसंद आ गया, और आपने उस पर कमेंट किया, तो वह कमेंट डाटाबेस में स्टोर हो जाता है।
  • यदि आप अस्पताल या हॉस्पिटल में जाते है तो वहां भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है। स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में, रोगी के रिकॉर्ड को सुरक्षित रूप से संग्रहीत और प्रबंधित करने के लिए डेटाबेस का उपयोग किया जाता है।
  • जबकि शैक्षणिक संस्थानो में छात्र की जानकारी, शैक्षणिक रिकॉर्ड और प्रशासनिक डेटा को व्यवस्थित और प्रबंधित करने करने के लिए डेटाबेस का उपयोग किया जाता है।
  • ई-कॉमर्स प्लेटफ़ॉर्म प्रोडक्ट कैटलॉग को प्रबंधित करने, ग्राहकों की प्राथमिकताओं को ट्रैक करने और ऑर्डर प्रोसेसिंग को सुव्यवस्थित करने के लिए डेटाबेस का उपयोग करते है।

डेटाबेस के प्रकार (Types of Database)

डेटाबेस विभिन्न प्रकार के होते हैं, प्रत्येक डाटाबेस विशिष्ट डेटा प्रबंधन आवश्यकताओं के अनुरूप होते हैं। यहां हमने डेटाबेस के प्रकार के बारे में विस्तृत चर्चा की है।

  • रिलेशनल डेटाबेस:- सबसे पारंपरिक प्रकार, रिलेशनल डेटाबेस डेटा का है। यह डेटाबेस डेटा को पंक्तियों और कॉलम के साथ टेबल में व्यवस्थित करते हैं। यह संरचित डेटाबेस डेटा को यूनाइट रखता है और SQL (संरचित क्वेरी भाषा) का उपयोग करता है। उदाहरणों में MySQL, PostgreSQL और Oracle डेटाबेस शामिल हैं।
  • NoSQL डेटाबेस:- जैसा कि नाम से पता चलता है, NoSQL डेटाबेस रिलेशनल डेटाबेस की कठोर संरचना से भिन्न होते हैं। ये अनस्ट्रक्चर्ड या सेमी स्ट्रक्चर्ड डेटा को संभालने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। MongoDB, एक व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला NoSQL डेटाबेस है।
  • इन-मेमोरी डेटाबेस:- ये डेटाबेस पूरे डेटासेट को सिस्टम की मुख्य मेमोरी (RAM) में स्टोर करते हैं। यह डेटाबेस पारंपरिक डिस्क-आधारित डेटाबेस की तुलना में डेटा रिकवर करने की स्पीड को काफी तेज कर देता है। रेडिस, एक इन-मेमोरी डाटाबेस का उदाहरण है, इसे आमतौर पर कैशिंग और रीयल-टाइम एनालिटिक्स के लिए नियोजित किया जाता है।
  • कॉलम डेटाबेस:- कॉलम-आधारित डेटा स्टोर करने के लिए बनाये जाते है, ये डेटाबेस विश्लेषण और रिपोर्टिंग के लिए विशेष रूप से प्रभावी हैं। Apache HBase इसका एक उल्लेखनीय उदाहरण है।

Conclusion

डेटाबेस Modern information management systems की रीढ़ हैं, जो डेटा को कुशलतापूर्वक व्यवस्थित करने और पुनर्प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उदाहरणों में MySQL जैसे रिलेशनल डेटाबेस और MongoDB जैसे NoSQL डेटाबेस शामिल हैं, जो विविध डेटा आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।

डेटाबेस का इतिहास प्रारंभिक फ़्लैट फ़ाइल सिस्टम से लेकर आज के वितरित और क्लाउड-आधारित आर्किटेक्चर तक, कंप्यूटिंग में तकनीकी प्रगति को दर्शाता है। आशा करते है आपको यह लेख पसन्द आया होगा, यदि आपको यह लेख अच्छा लगा तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमे बताये की इस आर्टिकल ने आपकी किस तरह सहायता की।

FAQs

डाटाबेस क्या है ?

टेक्स्ट व मल्टीमीडिया स्टोर करने के स्थान को डेटाबेस कहते है। डेटाबेस आप अपने कंप्यूटर के जरिये आसानी से एक्सेस कर सकते है। पहले डेटा को संग्रहित करने का काम कागज़ों व पुस्तकालयों में होता था।

डेटाबेस के उद्देश्य ?

डेटाबेस का मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं के डेटा को सुरक्षित स्टोर करना, मैनेज करना होता है।

Leave a Comment