जाने किस भाषा मे बात करते थे मुग़ल शासक

फरगना से आये मुघलो ने भारत पर लंबे समय यक शासन किया।

16वी शताब्दी के मध्य में और 18वी शताब्दी के शुरुआत तक मुघलो में लगभग सम्पूर्ण भारतीय उपमहाद्वीप पर राज किया था।

मुघल शासकों को लेकर भारत में कई भ्रांतिया है, उसी में से एक ये है, की मुग़ल शासक किस भाषा मे बात करते थे।

मुघलो की संपत्ति कितनी थी और इनके निजी जीवन के बारे में तो आपने बहुत कुछ पढा होगा।

लेकिन आज हम आपको मुग़ल किस भाषा मे बात करते थे, इस विषय मे बताने वाले है।

मुग़ल साम्राज्य की आधिकारिक भाषा फ़ारसी थी, जो कि ईरान की मूल भाषा है।

मुग़ल शासक फ़ारसी के अलावा उर्दू भी बोलते थे, जबकि बाबर की मातृभाषा चग़ताई (टर्की) थी।

मुग़ल दरबार की जानकरियां हमे फ़ारसी में मिलती है, अकबरनामा जिसे मुग़ल कालक्रम फारसी में देखने को मिलती है।

अकबर के कार्यकाल के दौरान संस्कृत और अरबी किताबो का बड़े स्तर पर फ़ारसी में अनुवाद किया गया।