Working hours in India: जाने अमेरिका, जापान, चीन जैसे देशों में कितना है ‘Working Hours’

Working hours in India: नारायण मूर्ति देश के जाने माने कारोबारी है, हाल ही में उनका एक बयान तेजी से वायरल हो रहा और उनके इस बयान को लेकर एक नई बहस चिढ़ गयी है। नारायण मूर्ति ने द रिकॉर्ड के लिए एक पॉडकास्ट में मोहनदास पई को बताया, यदि भारत को चीन, जापान, जर्मनी जैसे देशों के साथ प्रतिस्पर्धा करनी है तो युवाओं को 70 घण्टे काम करना चाहिए। आईये इस आर्टिकल में जानते है, भारत समेत दुनियाभर के अन्य देशों में वर्किंग ऑवर क्या है? इस आर्टिकल में हम आपको Working Hours in India, Working Hours in USA, Working Hours in Canada आदि के बारे में बताने वाले है।

नारायण मूर्ति पॉडकास्ट (Narayana Murthy Podcast)

Working hours in India: भारत के अधिकांश सरकारी और निजी संस्थानों में 8 से 9 घंटे की कामकाज संविदानिक रूप से प्रचलित है। लेकिन देश के प्रमुख उद्योगपति और विशेषज्ञ आईटी कंपनी इंफोसिस के सह-संस्थापक एनआर नारायणमूर्ति (N R Narayana Murthy) का सुझाव है कि देश के युवाओं को हर दिन लगभग 12 घंटे काम करना चाहिए, ताकि भारत गतिशीलता में तेजी ला सके।

नारायणमूर्ति का कहना है कि जब देश के युवा हफ्ते में 70 घंटे काम करेंगे, तब ही भारत वे आर्थिक तंत्रों के साथ प्रतिस्पर्धा कर सकेगा, जिन्होंने पिछले दो से तीन दशकों में सफलता प्राप्त की है। नारायणमूर्ति ने इंफोसिस के पूर्व सीएफओ मोहनदास पाई के साथ ‘द रिकॉर्ड’ पॉडकास्ट के दौरान यह बयान दिया।

नारायण मूर्ति जी कहते है प्रोडक्टिविटी के मामले में भारत विश्व मे सबसे कम है। वे कहते है हम चीन से बड़े संकट का सामना कर रहे है इसलिये युवाओं को अधिक काम करना होगा जैसे दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान और जर्मनी के युवाओं ने किया था। यहां हमने कुछ प्रमुख देशों के working time के बारे में जानकरी दी है।

Working hours in India

1948 के फ़ैक्टरी अधिनियम के अनुसार, भारत मे वयस्कों के रूप में वर्गीकृत व्यक्तियों (18 वर्ष या उससे अधिक आयु वाले) को 9 घंटे की दैनिक सीमा के साथ, प्रति सप्ताह 48 घंटे से अधिक काम करने प्रतिबंध है। भारत मे अधिकतम 9 घण्टे का वर्किंग ऑवर है, लेकिन ज्यादातर सरकारी संस्थानों में किसी भी कर्मचारी से हफ्ते में 48 घण्टे से काम नही कराया जा सकता। एक समय में जब अमेरिका ग्रोथ कर रहा था तो उस दौरान एक आम अमेरिकी 60 घण्टे से ज्यादा काम करता था।

Working hours in USA

यू.एस. में फुल टाइम एम्प्लाइज आमतौर पर प्रति सप्ताह 40 घंटे काम करते हैं। यू.एस. में ओवरटाइम आम है और आमतौर पर इसे मानक समय 40-घंटे के वर्किंग ऑवर प्रति सप्ताह से अधिक समय तक काम करने के रूप में परिभाषित किया जाता है। वही पार्ट टाइम वर्कर 40 घण्टे से कम काम करते है। अमेरिका (Working hours in India) में कर्मचारियों को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक 8 घण्टे काम करना होता है और 2 दिन ऑफ होते है। आपकी जानकरी के लिए बता दे मौजूदा समय मे भारत मे 15 से 29 वर्ष के युवा 3 घण्टे रील देखने मे बिताते है।

Working hours in Canada

एक कर्मचारी या ट्रेनी के रूप में, कनाडा में लोगो को नियमित कामकाजी घंटों में प्रति दिन 8 घंटे काम करना होता है। (लगातार 24 घंटे की अवधि के भीतर)। जबकि एक आम व्यक्ति को कनाडा में 40 घण्टे प्रति सप्ताह काम करना होता है, जबकि 2 दिन ऑफ रहते है। प्रति सप्ताह 40 घंटे (शनिवार की आधी रात से अगले शनिवार की आधी रात तक) शामिल हैं।

यह भी पढ़ें: Zoho Success story in hindi: गांव के आदमी ने बना दी हजारों करोड़ की कंपनी

Working hours in Dubai

दुबई में एक आम व्यक्ति को नियमित कामकाजी घण्टो में लगभग 8 घण्टे प्रति दिन काम करना होता है। जबकि एक हफ्ते में दुबई में 48 घण्टे काम करने होते है। हालांकि कुछ मामलों को छोड़कर इन वर्किंग आवर्ष में ट्रेवलिंग टाइम ऐड नही है।

Working hours in Germany

जर्मनी में, मानक कार्यालय समय आम तौर पर सोमवार से गुरुवार तक सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक और शुक्रवार को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक होता है। जर्मन श्रम कानून कहता है कि दैनिक कामकाजी घंटे आठ घंटे से अधिक नहीं होने चाहिए, और साप्ताहिक सीमा 48 घंटे निर्धारित की गई है।

Working hours in China

चीन के अधिकांश उद्योग सेक्टर में मानक कामकाजी समय आठ घण्टे है जबकि प्रति सप्ताह युवाओं को 44 घण्टा काम करना अनिवार्य है, जैसा कि पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के श्रम कानून द्वारा निर्धारित किया गया है। हालाँकि, कुछ अन्य सेक्टर्स में कामकाजी घण्टे भिन्न हो सकते है। हालांकि एक जमाने मे जब चीन संघर्ष कर रहा था, तो यहां के लोगो को 65 से 70 घण्टे तक काम करना होता था।

यह भी पढ़ें: अहमदाबाद का सबसे अमीर आदमी कौन है: एक अरबपति के सामने तो अम्बानी भी फेल है, जाने टॉप 5 अमीरों की सूची

Working Hours in Japan

जापान में, काम के घंटों का कानूनी मानक प्रति सप्ताह 40 घंटे निर्धारित किया गया है। जबकि माना जाता है कि जापान के लोग वरकोहोलिक होते है एयर एक ऐतिहासिक प्रथा में कई जापानी नियोक्ताओं को इस बात पर जोर देते देखा गया है कि उनके कर्मचारी प्रति माह 80 घंटे तक ओवरटाइम काम करते हैं। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद जापानी एक हफ्ते में 70 घण्टे तक काम करते थे।

Narayana Murthy Podcast

नीचे हमने यहां पर उस पॉडकास्ट को एमबीड किया है, जिस पॉडकास्ट में नारायण मूर्ति जी ने भारत के युवाओं से ज्यादा काम करने की अपील की थी।

FAQs

अमेरिका में कितने घण्टे का वर्किंग ऑवर है?

अमेरिका में कर्मचारियों को हफ्ते में 7 घण्टे काम करना होता है।

कनाडा में कर्मचारियों को कितने घण्टे काम करना होता है?

कनाडा में कर्मचारियों को प्रतिदिन 8 घण्टे एयर हफ्ते में 5 दिन आफिस जाना होता है।

भारत के युवा ज्यादातर समय क्या करते है?

भारत के 15 से 29 वर्ष के युवा डेली 3 घण्टे रील देखने मे बिताते है।

दुबई में कितने घण्टे काम करना पड़ता है?

दुबई में एक कर्मचारी को रोजाना 8 घण्टे काम करना पड़ता है।

Leave a Comment